सीमांत जिला चमोली में किया गया शिक्षकों को सम्मानित

चमोली: देश के प्रख्यात दार्शनिक एवं शिक्षाविद् भारतरत्न डा0 सर्वपल्ली राधाकृष्णन का जन्म दिवस सभी विद्यालयों में शिक्षक दिवस के रूप में मनाया गया। शिक्षक दिवस पर जीआईसी गोपेश्वर में आयोजित कार्यक्रम में मुख्य अतिथि जिलाधिकारी हिमांशु खुराना ने डा0 राधाकृष्णन के चित्र पर माल्यापर्ण किया और शिक्षा के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने वाले शिक्षकों को प्रशस्ति पत्र एवं प्रतीक चिन्ह देकर सम्मानित किया गया। मौके पर छात्र-छात्राओं ने सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किए।

शिक्षक दिवस पर जिलाधिकारी ने सभी शिक्षकों को शुभकामनाऐं दी। उन्होंने कहा कि समाज के निर्माण में शिक्षकों की अहम भूमिका है। कहा कि शिक्षक देश का निर्माण और विकास करने के लिए बच्चों को तैयार करता है। बच्चे देश का भविष्य है और भविष्य की बागडोर शिक्षकों के हाथ में ही होती है। जिलाधिकारी ने कहा कि हर नागरिक का भवष्यि शिक्षण संस्थानों में ही तय होता है। उन्होंने शिक्षकों से बच्चों की शिक्षा के प्रति पूर्ण समर्पित होकर देश के भविष्य निर्माण में अपना अहम योगदान देने के लिए प्रेरित किया।

जिलाधिकारी ने कहा कि सीमांत जनपद चमोली में शिक्षण संस्थाओं को मॉर्डन बनाने की दिशा में कार्य किया जा रहा है। जिला पुस्कालय को डिजिटल ई-पुस्तकालय, राइका गोपेश्वर में आधुनिक गणित प्रयोगशाला तथा राइका माणा-घिघंराण में तकनीकि आधारित अंग्रेजी भाषा प्रयोगशाला का संचालन शुरू किया गया है। डायट गौचर में पुस्कालय बनाया गया है। कर्णप्रयाग और जोशीमठ में भी जल्द मॉडर्न संशाधनों सहित पुस्कालय स्थापित करने की दिशा में कार्य किया जा रहा है। विद्यालयों में सुदृढीकरण कार्यो के साथ शिक्षण की उचित व्यवस्था की जा रही है। इस मौके पर जिलाधिकारी ने शिक्षा के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने वाले विभिन्न विद्यालयों के शिक्षकों को प्रशस्ति पत्र, प्रतीक चिन्ह एवं शॉल भेंटकर सम्मानित भी किया।

मुख्य शिक्षा अधिकारी कुलदीप गैरोला ने मुख्य अतिथियों का स्वागत करते हुए जीवन में शिक्षक के महत्व पर प्रकाश डाला और अपने जीवन के अनुभवों को भी साझा किया। इस दौरान उन्होंने जनपद में शिक्षा के विकास के क्षेत्र में जिलाधिकारी द्वारा संचालित नवचारी कार्यो के प्रति आभार व्यक्त करते हुए बताया कि जिलाधिकारी के प्रयासों से जनपद में रोबोटिक प्रयोगशाला स्थापित करने की दिशा में कार्य किया जा रहा है। उन्होंने सभी को शिक्षक दिवस पर हार्दिक शुभकामनाएं भी दी।

शिक्षक दिवस पर जनपद स्तर पर चयनित 45 शिक्षकों को जनपद स्तरीय शिक्षक उत्कृष्टता सम्मान से सम्मानित किया गया। जिसमें शिक्षक मातवर सिंह, राजेश थपलियाल, जया चौधरी, गीता डिमरी, हरीश चन्द्र सिंह, प्रेम सिंह फर्स्वाण, ऋषि प्रसाद थपलियाल, दीपमाला चमोला, योगेन्द्र सिंह नेगी, दीपेन्द्र सिंह कण्डारी, कुन्दन लाल कोहली, जगदीश प्रसाद कंसवाल, अर्चना काठियाल, अंजना खण्डूडी, अजय पाल सिंह, सुमनलता सती, पुष्पा भण्डारी, कुसुम लता गडिया, देवेन्द्र सिंह, लखपत सिंह रावत, ज्योति नेगी, संतोष कुमार, लक्ष्मी नेगी, बबली सैंजवाल, सरोजनी काला, घनश्याम ढौढियाल, संतोष कुमार, महिपाल सिंह मंडवाल, चैतराम काला, खीम सिंह कण्डारी, अनूप सिंह गुंसाई, भुवन चन्द्र पुरोहित, कमला लाल आर्य, बीरेन्द्र कुमार सेठवाल, मनोज कुमार, लक्ष्मण सिंह, यशपाल सिंह बिष्ट, भूपाल सिंह नेगी, बाग सिंह शाह, रघुवीर सिंह बिष्ट, मंजू पांगती, नवीन चन्द्र मिश्रा, भूपेन्द्र सिंह पाल, भरत सिंह रावत, दर्शन सिंह धपोला शामिल है।  

इसके अतिरिक्त स्काउट्स गाइड्स में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले 07 शिक्षकों को सम्मानित किया गया। जिसमें शिक्षक जय लाल आर्य, राजेन्द्र सिंह कण्डारी, भरत सिंह नेगी, फूलचन्द्र गौतम, पुष्पा कनवासी, यशोदा पुरोहित एवं लक्ष्मी नेगी शामिल है।

परिषदीय परीक्षा वर्ष 2021-22 में सर्वोच्च प्रदर्शन करने वाले 5 विद्यालय राउमावि नलगांव,जेएसएनएनएमआईसी गैरसैंण, राइका सलियाणा, राइका कौब एवं राइका कनखूल को प्रशस्ति पत्र एवं मोमन्टों देकर सम्मानित किया गया। कक्षा 12वीं की परिषदीय परीक्षा में राइका थराली के छात्र सागर पुरोहित को 95.60 प्रतिशत अंक तथा सुबोध प्रेम विद्या मंदिर राइका गोपेश्वर के छात्र अमन बिष्ट को 95.20 प्रतिशत अंक प्राप्त करने पर रु.5100 का चैक, प्रशस्ति पत्र एवं मोमेन्टों देकर सम्मानित किया गया।

वन प्रभाग की ओर से विद्यालयों में प्लास्टिक उन्मूलन ऑनलाइन प्रतियोगिता के विजेता 14 छात्र-छात्राओं को भी प्रशस्ति पत्र देकर पुरस्कृत किया गया। इस अवसर पर प्रभारी मुख्य विकास अधिकारी आनंद सिंह, जिला शिक्षा अधिकारी अतुल सेमवाल, प्रधानचार्य कर्मवीर सिंह सहित शिक्षक एवं विद्यार्थी मौजूद थे।

Share and Enjoy !

0Shares
0

Leave a Reply

Your email address will not be published.

0Shares
0