चारधाम यात्रा: श्रद्धालुओं के लिए खुले यमुनोत्री धाम के कपाट

उत्तरकाशी: विश्व प्रसिद्ध गंगोत्री और यमुनोत्री धाम के कपाट मंगलवार को अक्षय तृतीया के दिन वैदिक मंत्रोच्चराण पूजा अर्चना के साथ श्रद्धालुओं के दर्शनार्थ खोल दिए गए। गंगोत्री धाम के कपाट 11ः15 और यमुनोत्री के कपाट ठीक दोपहर 12ः15 मिनट पर देश-विदेश से आने वाले श्रद्धालुओं के दर्शनार्थ खोले गए। वहीं मंगलवार को दोनो धामों के कपाट खुलने के बाद चारधाम यात्रा का भी विधिवत शुभारंभ हो गया। केदारनाथ धाम के कपाट छह मई और बदरीनाथ धाम के कपाट आठ मई को खुलेंगे।

मंगलवार को सुबह प्रातः 06 बजे मां गंगा की डोली भैरव घाटी स्थित भैरव मंदिर से गंगोत्री के लिए रवाना हुई। जो कि ठीक साढ़े आठ बजे गंगोत्री धाम पहुंची। जहां तीर्थ पुरोहितों ने रीति-रिवाज और वैदिक मंत्रोच्चारण के साथ 11ः15 पर गंगोत्री धाम के कपाट श्रद्धालुओं के दर्शनार्थ खोल दिये गए। इस मौके पर मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने भी दर्शन किए। कपाट खुलने के मौके पर हजारों श्रद्धालु मौजूद थे।

वहीं, वैदिक मंत्रोच्चार के साथ विश्व प्रसिद्ध यमुनोत्री धाम के कपाट आज अक्षय तृतीया के पावन पर्व पर दोपहर 12ः15 बजे शुभलग्नानुसार अभिजीत मुहूर्त में विधिवत पूजा अर्चना के बाद देश-विदेश से आने वाले श्रद्धालुओं के लिए दर्शनार्थ खोल दिए गए हैं। अब आज से छह महीने तक श्रद्धालु मां यमुना के दर्शन यमुनोत्री धाम में कर सकेंगे।

अक्षय तृतीया को सुबह मां यमुना के शीतकालीन प्रवास खरसाली में तीर्थ पुरोहितों द्वारा विधिवत पूजा, अर्चना कर मंदिर से यमुना की उत्सव मूर्ति को बाहर निकाला गया तथा डोली में रखा रखकर पूजा अर्चना की, जिसके बाद साढ़े आठ बजे शुभ मुहूर्त के अनुसार यमुना की डोली पारंपरिक वाद्य यंत्रों के साथ शनि देव महाराज की अगुवाई में खरसाली गांव से यमुनोत्री धाम के लिए रवाना हुई।

मां यमुना के शीतकालीन प्रवास खुशीमठ से यमुनोत्री विधायक संजय डोभाल ने यात्रा को यमुनोत्री धाम के लिए रवाना किया। यमुना और शनिदेव के जयकारों के साथ खरसाली से श्रद्धालुओं के बीच पैदल यात्रा कर मां यमुना की डोली यमुनोत्री धाम पहुंची। जहां तीर्थ पुरोहितों ने विधि-विधान से पूजा-अर्चना की।

जिसके बाद वैदिक मंत्रोच्चार के साथ दोपहर 12ः15 बजे यमुनोत्री धाम के कपाट श्रद्धालुओं के दर्शनार्थ खोल दिए गए। आज से भैया दूज तक 6 माह के लिए देश-विदेश से आने वाले श्रद्धालु एवं तीर्थयात्री मां यमुना के दर्शन यमुनोत्री धाम में कर सकेंगे। 

Share and Enjoy !

0Shares
0

Leave a Reply

Your email address will not be published.

0Shares
0