रानीखेत ड्रग्स फैक्ट्री से संबंधित प्रपोजल जल्द ही केंद्र और राज्य को भेजा जाएगा 

देहरादून: सहकारिता मंत्री डॉ धन सिंह रावत के निर्देश पर सहकारिता विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा गढ़वाल एवं कुमाऊं क्षेत्र में विभिन्न कॉपरेटिव संस्थानों एवं कार्यालयों के निरीक्षण के निर्देश दिए गए हैं जिसको लेकर सहकारिता विभाग के वरिष्ठ अधिकारी इन दिनों गढ़वाल एवं कुमाऊं के दूरस्थ एवं विभिन्न क्षेत्रों में जनपद वार सहकारिता विभाग के कार्यालयों एवं  संस्थानों में औचक निरीक्षण कर रहे हैं। इसी क्रम में प्रबंध निदेशक यूसीएफ एम पी त्रिपाठी जी द्वारा रानीखेत गनियाद्योली स्थित को ऑपरेटिव ड्रग फैक्ट्री का  निरिक्षण किया गया। इस दौरान त्रिपाठी द्वारा फैक्ट्री में कार्यरत कर्मचारियों से फैक्ट्री मैं कार्य को लेकर जानकारी ली गई। 

 फैक्ट्री के श्रमिक संघ के पदाधिकारियों एवं कर्मचारियों  के द्वारा प्रबंध निदेशक से ड्रग्स फैक्ट्री से संबंधित चर्चा की गई एवं अपनी समस्याओं से प्रबंधक निदेशक महोदय को रूबरू करवाया गया। फैक्ट्री में कार्यरत कर्मचारियों की समस्या तसल्ली से सुनने के बाद प्रबंध निदेशक महोदय द्वारा कर्मचारी  नेताओ  को आश्वस्त किया गया कि ड्रग्स फैक्ट्री  से संबंधित विस्तृत जानकारी से सहकारिता मंत्री डॉ धन सिंह रावत को अवगत कराया जाएगा।

फैक्ट्री के कुशल संचालन के लिए शीघ्र ही एक प्रोपोजल बनाकर केंद्र व राज्य सरकार को भी प्रेषित किया जायेगा। उन्होंने कहा कि फैक्ट्री की समस्याओं के प्रति माननीय सहकारिता मंत्री डॉक्टर धन सिंह रावत जी  गंभीर है। प्रबंधक निदेशक त्रिपाठी ने कहां राज्य व केंद्र सरकार आयुर्वेदिक दवाओं के उत्पादन व प्रसार के लिए निरंतर प्रयासरत है।इस दौरान प्रबंधक निदेशक महोदय द्वारा फैक्ट्री में उत्पादित किये जा रहे। निर्मित दवाओं का भी निरीक्षण किया और कहा कि फैक्ट्री में निर्मित जो आयुर्वेदिक उत्पाद बनाये जाते है उनकी अन्य जगह पर काफी मांग है, उन्होंने कहा कि यह कारखाना हिमालयी क्षेत्र में पाई जाने वाली आयुर्वेदिक दवाओं की तैयारी के साथ-साथ लोगों को रोजगार देने के साथ पहाड़ी क्षेत्र की किफायती प्रगति में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है। 

Share and Enjoy !

0Shares
0

Leave a Reply

Your email address will not be published.

0Shares
0