कर्ज में डूबा परिवार, पांच ने खाया जहर, मौत

कर्ज में डूबे फल विक्रेता ने परिवार के साथ जहर खाया जिसमें पांच लोगों की मौत हो गई जबकि एक जिंदगी और मौत के बीच जूझ रही है। बिहार के नवादा नगर की आदर्श सोसाइटी के निकट फल विक्रेता ने आर्थिक तंगी के चलते परिवार के सदस्यों के साथ जहर खा लिया।

जानकारी के अनुसार फल विक्रेता केदार प्रसाद गुप्ता ने अपने परिवार के 6 सदस्यों के साथ जहर खाया। इस घटना में केदारनाथ गुप्ता, पत्नी अनिता देवी, दो बेटी शबनम कुमारी, गुड़िया कुमारी और बेटा प्रिंस कुमार की मौत हो गई। बेटी साक्षी कुमारी जीवन और मौत से जूझ रही है। बताया जा रहा है कि फल विक्रेता केदारनाथ गुप्ता मूलतः रजौली के रहने वाले थे और वह न्यू एरिया नवादा में रहकर विजय बाजार में फल की दुकान चलाते थे। आसपास के लोगों को जब उनके जहर खाने की खबर मिली तो उन्होंने सभी लोगों को इलाज के लिए अस्पताल पहुंच गये। इनमें से कई लोगों ने रास्ते में ही दम तोड़ दिया। एकमात्र जीवित एक लड़की का इलाज चल रहा है।

नवादा पुलिस के अनुसार केदारनाथ गुप्ता मूलरूप से रजौली के रहने वाले थे। वे कुछ समय से अपने परिवार के साथ नवादा में रह कर कारोबार करने लगे थे। कारोबार के लिए उन्होंने कुछ लोगों से कर्ज लिया था। कर्ज और ब्याज लगातार बढ़ रहा था और वे उसे चुका नहीं पा रहे थे। उन पर पैसा चुकाने का दबाव बनाते हुए प्रताड़ित कर रहे थे। गुप्ता ही नहीं पूरे परिवार को प्रताड़ित किया जा रहा था। पुलिस का कहना है कि संभवत इसी कारण से पूरे परिवार ने सामूहिक खुदकुशी का कदम उठाया।

परिवार की जीवित सदस्य बेटी साक्षी कुमारी ने बताया कि उनके पिता ने कर्ज लिया था। कर्ज लौटाने को लेकर वो काफी डिप्रेशन में थे। लेनदार पिता को तंग करते थे। पैसे मांगते थे। धमकी देते थे। कर्ज को नहीं चुका पाने के कारण पिता ने परिवार के सभी सदस्यों के साथ जहर खाने का निर्णय लिया। फिलहाल, मृतकों का पोस्टमार्टम कराया जा रहा है। पीड़ित साक्षी का नवादा सदर अस्पताल में इलाज चल रहा है। पुलिस मामले की जांच कर रही है। साक्षी ने कुछ लोगों के नाम भी बताए हैं जो पैसों के लिए पिता को तंग कर रहे थे।

Share and Enjoy !

0Shares
0

Leave a Reply

Your email address will not be published.

0Shares
0