अग्निवीरों को मिलेगा बड़ा मौका…अब केंद्रीय गृह मंत्रालय ने किया बड़ा ऐलान, उत्तराखंड के युवाओं को भी मिलेगा फायदा

एक दिन पहले ही तीनों सेनाओं में भर्ती के लिए शुरू की गई नई योजना ‘अग्निपथ’ को लेकर बड़ी ख़बर मिल रही है। गृह मंत्रालय ने इस योजना में 4 साल पूरा करने वाले अग्निवीरों को CAPFs और असम राइफल्स में भर्ती में प्राथमिकता देने का निर्णय लिया है।

गृह मंत्रालय की ओर से कहा गया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के इस निर्णय से ‘अग्निपथ योजना’ से प्रशिक्षित युवा आगे भी देश की सेवा और सुरक्षा में अपना योगदान दे पाएंगे। इस निर्णय पर विस्तृत योजना बनाने का काम शुरू हो गया है।

रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने कहा था कि बहुत से मंत्रालयों और राज्य सरकारों ने यह इच्छा व्यक्त की है कि उनके मंत्रालयों, कॉरपोरेशनों में अगर कोई भर्ती आती है जो उन्हें इसमें प्राथमिकता दी जाएगी। जल्द ही वो इस संबंध में घोषणा कर सकते हैं।

वहीं उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने मंगलवार को ही घोषणा कर दी कि अग्निवीर योजना के तहत सेना में काम करने वाले जवानों को उत्तराखंड पुलिस में प्राथमिकता दी जाएगी।

जानिए अग्निपथ योजना में क्या है…

इस योजना के तहत हर साल करीब 45 हजार युवाओं को सेना में शामिल किया जाएगा। ये भर्तियां मेरिट और मेडिकल टेस्ट के आधार पर की जाएंगी।

साढ़े 17 साल से 21 साल की उम्र के युवाओं को ही इस योजना का लाभ मिलेगा। चयनित युवाओं को चार साल के लिए सेना में सेवा देने का मौका मिलेगा।

इन चार वर्षों में अग्निवीरों को 6 महीने की बेसिक मिलिट्री ट्रेनिंग दी जाएगी।

इस योजना के तहत अग्निवीरों को 30 हजार से 40 हजार महीना सैलरी और अन्य फायदे दिए जाएंगे। इन दौरान अग्निवीर तीनों सेनाओं के स्थायी सैनिकों की तरह अवॉर्ड, मेडल और इंश्योरेंस कवर पाएंगे।

चार साल पूरे होने के बाद 25 फीसदी को स्थायी काडर में भर्ती किया जाएगा। चार साल बाद जो अग्निवीर बाहर होंगे उन्हें सेवा निधि पैकेज के तहत करीब 12 लाख रुपये एकमुश्त मिलेंगे।

Share and Enjoy !

0Shares
0

Leave a Reply

Your email address will not be published.

0Shares
0